हैप्पी नवरात्रि 2018:महिलाओं के लिए शुभ योग,मिलेगा यह फल

नवरात्रि 2018शुभ मुहूर्त

मुंबई tyohartop.com| 10 अक्टूबर  से शारदीय नवरात्रि शुरू हो रही है यह नवरात्रि बहुत ही शुभ माना जाता है चलिए हम आपको इससे जुडी कुछ शुभ मुहूर्त और खास बाते बताते है !इस नवरात्रि में लोग कलश भी रखते है इस नवरात्रि पंडितो में कलश को लेकर कुछ मतभेद है लेकिन वही कुछ पंडितो का कहना है की 10 अक्टूबर 2018 दिन सबसे अच्छा है कलश रखने के लिए.पंडितो का कहना है की ,सूर्योदय जो है 6:30 से पहले होगा!और नवरात्रि की तारीख 9 से लिया जा सकता है.लेकिन जिन स्थानों पर सूर्योदय  6:30 के बाद होगा तो 10 तारीख से शुरू होगा इस दिन पंडितो का मानना है की इस दिन  तीन शुभ मुहूर्त है जब कलश स्थापित किया जा सकता है

हैप्पी नवरात्रि

मुहूर्त समय 2018

इस दिन सुबह का पहला मुहूर्त 6:29 मिनट से 7:45 मिनट तक है और दूसरा 6:58 मिनट से 7:26 मिनट तक रहेगा,और तीसरा 11:03 से लेकर 11:08 बजे तक हैं! पंडितो के अनुसार 6:58 से 7:26 बजे तक का समय सबसे बेस्ट है

महिलाओं के लिए विशेष मुहूर्त 2018

इस बार का नवरात्रि महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ मना जा रहा है आश्विन मास की शुक्ल प्रतिपदा से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ होता है इस बर्ष इनका आरम्भ बुधवार 10 अक्टूबर से होने जा रहा है पंडितो के अनुसार इस बार की नाव पर पधार कर आ रही है|यू तो नौका पर देवी का आगमन सभी के लिए कल्याणकारी होता है लेकिन इस बार का यह पर्व बहुत ही ज्यादा, महिलाओ के लिए लाभकारी है .इस नवरात्रि महिलाओ के लिए बड़े बड़े जगहों पर, पदों पर पैर जमाकर  खड़ी नजर आएगी!

कलश स्थापना नियम 

कलश स्थापना के लिए मुख्यतः लाल रंग का आसन,मिट्टी का पात्र,जौ,कलश के निचे रखने के लिए मिट्टी,कलश,मौली,लौंग,इलायची ,कपूर,रोली,चावल,साबुत सुपारी,अशोक या आम के पांच पत्ते,नारियल,चुनरी,सिन्दूर,फल फूल,माता की श्रृगार की सामग्री और फूलो की माला एकत्रित करे |इसके पश्चात् नहाकर पहले दिन पूजा घर की सफाई करे और सबसे पहले गणेश जी स्मरण करे उसके बाद माताजी का पूजा करे पूरी बिधि बिधान से और अखंड ज्योति जलाये| मिट्टी के बर्तन में मिट्टी भरकर उसमे जौ के बीज डाले!एक ताम्बे के कलश पर मौली बांधे और उस पर स्वस्तिक बनाये | इस पर गंगा जल डालकर दूब,सुपारी,अक्षत और उसमे ग्यारह रुपया डाल दे.उसके बाद आप पांच आम के अशोक के पत्ते कलश के ऊपर रख दे|उसके बाद नारियल को लाल चुनरी में लपेटकर कलश के ऊपर रख दे|और लास्ट में कलश को जौ वाले मिट्टी के पात्र के बिचोबीच स्थापित कर दे|                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                        इस प्रकार से आप कलश स्थापना करके नवरात्रि पूजन  पूरे बिधि बिधान से कीजिये,मातारानी का आशीर्वाद प्राप्त कीजिये |जय माता दी.                                                                                                                                                                                                                                                           आपको हमारा लेख कैसा लगा कृपया कमेंट बॉक्स में मैसेज करके जरुर बताये|ज्यादा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करना नहीं भूले 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *